Besan Chakki Recipe in Hindi: A Delectable Delight |”मात्र 30 मिनट में ‘बेसन चक्की’ बनाने का सबसे आसान तरीका – चाहे वीकेंड हो या विशेष अवसर!”

खास तरीके से बनाया गया ‘बेसन चक्की’ – खुद बनाएं और चौंकाएं!”Besan Chakki Recipe in Hindi |Besan Chakki | Chakki Recipe | Besan Chakki Recipe | Chakki Recipe Hindi |Homemade Besan Chakki|

बेसन चक्की के स्वाद से हम सभी अच्छी तरह परिचित हैं, और यह भारतीय रसोईघरों में एक अहम भूमिका निभाता है। यह विशेष रूप से त्योहारों और खास मौकों पर बनाया जाता है। इसकी स्वादिष्टता और आरोग्यकर गुणधर्म के कारण बेसन चक्की एक अत्यंत लोकप्रिय नाम है।

इस ब्लॉग पोस्ट में, हम आपको बताएंगे कि आप कैसे अपने घर पर स्वादिष्ट और पौष्टिक बेसन चक्की बना सकते हैं। हम आपको बेसन की तैयारी से लेकर चक्की बनाने की विधि तक सभी जरूरी जानकारी प्रदान करेंगे। तो आइए, हमारे साथ इस स्वादिष्ट बेसन चक्की की रेसिपी के सफर पर निकलें और इस लोकप्रिय भारतीय मिठाई का आनंद लें।

1. सामग्री (Besan Chakki Recipe Ingredients)

सामग्रीमात्रा
चना दाल (बेसन बनाने के लिए)2 कप
चीनी1 कप
गुड़ (वृक्ष गोंद के लिए)1/2 कप
किशमिश1/4 कप
बादाम1/4 कप
पिस्ता1/4 कप
ख़सख़स (वृक्ष गोंद के लिए)2 छोटे चम्मच
इलायची पाउडर1 छोटा चम्मच
घी2 छोटे चम्मच
इलायची के दाने4-5
पानी1/4 कप
Mattha Recipe in Marathi : Delicious Natural Treat For You| आपके लिए 1 स्वादिष्ट प्राकृतिक दावत

यहाँ पर बेसन चक्की तैयार करने के सभी सामग्री की सूची दी गई है। आप इन्हें अपने रसोईघर में आसानी से प्राप्त कर सकते हैं। सामग्री की गुणवत्ता का ध्यान रखें, क्योंकि यह आपकी बेसन चक्की की रुचिकरता को प्रभावित कर सकता है।

2. तैयारी की तय तिथि (Preparation Time)

बेसन चक्की तैयारी का समय: लगभग 30-40 मिनट

बेसन चक्की तैयार करने के लिए आपको केवल 30 से 40 मिनट की आवश्यकता होती है। इस समय में आप बेसन की तैयारी करके और चक्की बनाकर इस मिठाई का आनंद उठा सकते हैं।

DI MITHAI NATION Besan Chakki Traditional Indian Desert Mithai for Special Occasion (400 Gram)

3. रसोईघर की साजबाज (Kitchen Setup)

बेसन चक्की तैयारी के लिए आपको निम्नलिखित रसोईघर की सामग्री और साजबाज की आवश्यकता होती है:

  • दाल चने की चक्की (यदि उपलब्ध है)
  • पीसने के बर्तन या ब्लेंडर
  • एक गहरी पैन
  • खाद्य मिश्रण तैयार करने के लिए बड़ा बर्तन
  • चावल या गेहूं का आटा (चक्की में पीसने के लिए)

साथ ही, रसोई में स्वच्छता का ध्यान रखें, और सामग्री को स्वच्छ और सुरक्षित रखने के लिए अच्छी तरह से सजाबाज करें। इससे आपके बेसन चक्की बनाने का प्रयास सुरक्षित और संवादपूर्ण होगा।

4. बेसन चक्की बनाने की विधि (Besan Chakki Recipe)

A. बेसन की तैयारी (Preparation of Besan)

  1. सबसे पहले, दाल चने को अच्छे से धोकर उसे अच्छे से सूखा दें।
  2. अब धूप में या किसी सुखाने जगह पर डाल दें और अच्छे से सूखा लें।
  3. ख़सख़स को छलन में डालकर पिस लें ताकि यह फाइन पाउडर बन जाए।
  4. पीसे हुए चने को बेसन के रूप में संग्रहित करें।

B. बेसन चक्की बनाने की प्रक्रिया (Process of Making Besan Chakki)

  1. एक गहरी पैन में चीनी और गुड़ को मिलाकर मध्यम आंच पर गरम करें।
  2. इस मिश्रण को बुलबुले आने तक पकाएं, और देखते रहें कि यह गाढ़ा हो जाए।
  3. अब इस मिश्रण में बेसन को डालें और अच्छे से मिलाएं।
  4. इसके बाद, इलायची पाउडर और घी को मिलाकर मिश्रण में डालें।
  5. गोंद, किशमिश, बादाम, और पिस्ता को भी मिश्रण में मिलाएं और अच्छे से हिलाएं।
  6. अब इस मिश्रण को चक्की में डालें और धीरे-धीरे पीसने दें।
  7. चक्की के पास कुछ पानी को डालकर इसे चलते रहें ताकि बेसन अच्छे से पीस सके।
  8. अब चक्की से बेसन चक्की को निकालें और इलायची के दानों से सजाकर ठंडा होने दें।
  9. ठंडा होने पर बेसन चक्की को छोटे छोटे पिस्टे हुए टुकड़ों में काट लें।

अब आपकी बेसन चक्की तैयार है! इसका आनंद खाते समय यह जरूर ध्यान से बनाएं और आपके परिवार और मित्रों के साथ शेयर करें।

5. बेसन चक्की के फायदे (Benefits of Besan Chakki)

बेसन चक्की न केवल स्वादिष्ट होती है, बल्कि इसमें स्वास्थ्य के लिए भी कई फायदे होते हैं।
यहाँ बेसन चक्की के प्रमुख फायदे हैं:

  1. पौष्टिकता का स्रोत: बेसन चक्की में चना दाल का उपयोग होता है, जिसमें पौष्टिकता भरपूर होती है। यह प्रोटीन, फाइबर, और विटामिन्स का अच्छा स्रोत होता है, जो हमारे शारीरिक स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होते हैं।
  2. आपके स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद: बेसन चक्की में गुड़ का उपयोग होता है, जो किशमिश, बादाम, और पिस्ता के साथ मिलता है। यह आपको ऊर्जा प्रदान करता है और आपके स्वास्थ्य को सुदृढ़ करने में मदद करता है।
  3. अद्भुत स्वाद का आनंद: बेसन चक्की एक मिठाई है जो स्वादिष्टता में कोई कमी नहीं करती है। यह खास मौकों पर खासा पसंद की जाता है और आपके मिठास के इर्द-गिर्द के दिनों को और भी खास बना सकती है।

बेसन चक्की का सेवन मात्र मिठास का ही नहीं, बल्कि सेहत के लिए भी फायदेमंद है।

6. अन्य सुझाव (Additional Tips)

बेसन चक्की तैयार करते समय और इसे बनाने के बाद इसे और भी अद्भुत बनाने के लिए यहाँ कुछ अन्य सुझाव हैं:

  1. गुड़ की गुणवत्ता: बेसन चक्की की गुड़ की गुणवत्ता का ध्यान रखें। बेहतर है कि आप उच्च गुणवत्ता वाला गुड़ चुनें, क्योंकि यह मिठास में विशेष रूप से फर्क पड़ता है।
  2. बेसन की गुणवत्ता: बेसन को अच्छे से पीसें ताकि बेसन चक्की में बनाने के बाद आपकी मिठाई में अद्भुत स्वाद आए।
  3. इलायची का उपयोग: इलायची का पाउडर और इलायची के दाने मिश्रित मसाले के स्वाद को बेहतर बना सकते हैं।
  4. स्वच्छता का पालन: रसोईघर में स्वच्छता का पालन करें, और सामग्री को हाथ से सुनहरे और स्वच्छ होने के बाद ही उपयोग करें।
  5. चक्की का ध्यान: चक्की के साथ काम करते समय सावधानी बरतें और सुनिश्चित करें कि बेसन चक्की सही तरह से काम कर रही है।

इन सुझावों का पालन करके आप Besan Chakki Recipe को और भी रुचिकर बना सकते हैं और इसके स्वाद को और भी उत्तम बना सकते हैं।

7. समापन (Conclusion)

इस ब्लॉग पोस्ट के माध्यम से हमने आपको Besan Chakki बनाने की सरल और स्वादिष्ट विधि साझा की है, जिससे आप अपने घर पर इस मिठाई का आनंद उठा सकते हैं। बेसन चक्की न केवल स्वादिष्ट होती है, बल्कि यह पौष्टिकता और ऊर्जा का भंडार भी होती है।

हम आपको यह सलाह देते हैं कि आप इस रेसिपी को अच्छे से पालन करें और स्वच्छता और गुणवत्ता का ध्यान रखें। आप इसे खास मौकों पर और भी अधिक खास बना सकते हैं और अपने परिवार और मित्रों के साथ साझा करने का आनंद ले सकते हैं।

बेसन चक्की के स्वाद का आनंद लें और यह स्वादिष्ट मिठाई बनाने के इस सफल प्रयास का आनंद उठाएं।

Aloo ki Sukhi Sabji Recipe In Hindi : Fun of Indian Food |25 मिनट में आलू की सूखी सब्जी – भारतीय खाने की मस्ती

FAQs (पूछे जाने वाले सवाल)

1. बेसन चक्की क्या होती है?

बेसन चक्की एक प्रकार की मिठाई होती है जो चना दाल से बनाई जाती है। इसमें गुड़, ड्राई फ्रूट्स, और इलायची का उपयोग होता है जिससे इसका स्वाद और गुणवत्ता बढ़ जाता है।

2. बेसन चक्की को कैसे सहेजें?

बेसन चक्की को एक सूखी और ठंडी जगह पर सहेजें। इसे डिब्बे में रखकर उसे तंदूर या फ्रिज में रखें ताकि यह फ्रेश रहे।

3. बेसन चक्की कितने समय तक खाई जा सकती है?

बेसन चक्की को आमतौर पर 2-3 हफ्तों तक ठंडा रखा जा सकता है, परंतु यह आपके स्थानीय मौसम और तापमान पर भी निर्भर करता है।

4. बेसन चक्की का सेवन किन-किन अवस्थाओं में करें?

Besan Chakki को त्योहारों, खास अवसरों, या खास मोमेंट्स पर सेवन करने के लिए अच्छी बात है। यह दोस्तों और परिवार के साथ मिलकर खाने के लिए भी उपयुक्त है।

5. क्या बेसन चक्की स्वास्थ्य के लिए अच्छी है?

हां, बेसन चक्की में चना दाल का उपयोग होता है, जिसमें प्रोटीन, फाइबर, और विटामिन्स होते हैं, जो स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होते हैं। लेकिन इसे मात्र मौफसी के रूप में सेवन करें और मानक पोषण पर ध्यान दें।

  • Kulfi Recipe

    Dadi Maa Ki Special Malai Kulfi Recipe – बचपन ka Swaad | Kulfi Recipe in Hindi

  • Nimbu Ka Achar

    Nimbu Ka Achar: स्वाद भरी रसोई का रहस्य | 10 Surprising Health Benefits Of Lemon Pickle

  • Lahsun Ka Achar Banane Ki Vidhi

    Lahsun Ka Achar Banane Ki Vidhi | लहसुन का अचार रेसिपी: स्वादिष्टता और स्वास्थ्य का खजाना

  • Kathal Ka Achar

    Kathal Ka Achar Banane Ki Vidhi | जानिए कटहल के अचार के बेहतरीन फायदे | Try New Taste: Jackfruit Pickle Recipe!

Leave a Comment